मिलावट खोरो के खिलाफ अभियान तो चलाया पर बताने की अथोरिटी नही

दीवाली पर चलाये सैम्पुल अभियान पर बोले नगर के खादय सुरक्षा अधिकारी
उरई(जालौन)। आम जनता के हितों को देखते हुये जिम्मेदार अमलों दारा लोगों को मिलावट खोरों से सचेत करने के लिये चलाये जाने वाले अभियानों की सच्चाई पर उस वक्त सवालिये निशान लग जाते है। जब जिम्मेदार अधिकारी उनकी जानकारी देने से ही किनारा करने लग जाते है। ऐसा ही आज उस वक्त हुआ जब यंग भारत के संवाददाता ने दीवाली के दिनों में चलाये गये अभियान तो जिम्मेदार अधिकारी किनारा करते नजर आये। उनका कहना रहा कि उन्हें इस बात की अथोरिटी नही दी गयी कि वह कुछ कह सके यह तो विभागाध्यक्ष ही बता सकेगे।
गौरतलब कि विगत कई वर्षो से सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के साथ साथ विभागीय अभियानों के जरिये लोगो को जागरूक करने की दिशा में शासन प्रशासन की ओर से व्यापक कदम उठाये जा रहे है आम जनता के हितों से सरोकार रखने वाले विभागों की सक्रियता के जरिये उनका लाभ लोगो को मिल सके इसके लिये समय समय पर विभागीय स्तर से अभियान भी चलाये जाते दीवाली होली अथवा अन्य त्यौहारों के मौके पर खदय संरक्षा विभाग की भूमिका और भी अधिक बढ जाती है ताकि आम जनता मिलावट खोरों की काली कततूतों का शिकार न हो सके जिसके लिये स्वंय विभागीय जिम्मेदार अधिकारी अपने अभियानों को सार्वजनिक तौर पर लोगो को जागरूक करने के लिये विभन्न माध्यमों से लोगो तक पहुंचाकर उन्हें आगाह भी किया करते है पर यहां नगर की जिम्मेदारी निभाने वाले खादय सुरक्षा अधिकारी आलोक कुमार से जब अभियान के संबध में जानकारी लेनी चाही तो उन्होने साफ कह दिया कि उनके पास अथोरिटी ही नही है कि वह कुछ बता सके उन्होने सिर्फ इतना बताया कि दीवाली पर अभियान चलाया गया है जिसकी जानकारी विभागाध्यक्ष ही बता सकेगे।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126