मोर्चरी में महिला के जिंदा होने की अफवाह से मचा हड़कंप

हमीरपुर: सांप के डसने से जान गंवाने वाली महिला के जीवित होने की अफवाह से हड़कंप मच गया। दरअसल परिजनों ने मोर्चरी में रखे शव को कोई जड़ी बूटी पिला दी थी, जिसके बाद महिला के शरीर में कंपन्न और उल्टी होने का दावा करते हुए परिजनों ने शोर-शराबा मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद डॉक्टरों की टीम ने मोर्चरी पहुंचकर पुन: शव का परीक्षण कर मृत होने की पुष्टि कर दी। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स की भी तैनाती की गई थी।

शहर के गौरा देवी नई बस्ती मोहल्ला निवासी गीता (32) पत्नी संजय निषाद को गुरुवार की सुबह 5 बजे भूसा वाले घर में सांप ने डस लिया। परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल भागे, जहां इलाज के बाद गीता की मौत हो गई। डॉक्टरों के मृत घोषित करने के बाद परिजनों को किसी ने कुरारा ब्लाक के टोडरपुर गांव दिखाने की सलाह दी। परिजन शव लेकर टोडरपुर पहुंच गए। जहां दवा पिलाने के बाद भी कोई सुधार न होने पर शव को लेकर मोर्चरी पहुंच गए। जहां शव भी अंदर रखवा दिया गया।

परिजनों का कहना है कि इसी दौरान शव में हरकत हुई। गीता के शरीर में कंपन्न के साथ ही उल्टी हुई। इसके बाद परिजनों ने उसके जीवित होने का शोर मचाना शुरू कर दिया। आनन-फानन में जिला अस्पताल के डॉ.आरटी बनर्जी मौके पर पहुंचे, तब तक कोतवाली की पुलिस फोर्स भी पहुंच चुकी थी। डॉक्टरों ने फिर से गीता की जांच-पड़ताल की। जिसके बाद गीता को पुन: मृत घोषित कर दिया।

मृतका के पिता शिवनाथ ने बताया कि गीता के दो बच्चे हैं। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है। इस शोर-शराबा और मुर्दा के जिंदा होने की कहानी सुनकर मोर्चरी के बाहर भारी संख्या में लोगों का जमावड़ा भी लगा रहा।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126