लोकतंत्र की मजबूती के लिए मतदान करना है आवश्यक: डीएम

उरई(जालौन)।  लोकतंत्र की मजबूती व सही जनप्रतिनिधि चुनने के लिए आवश्यक हैं कि हर मतदाता लोकतंत्र के महापर्व चुनाव में भाग ले तथा अपने मताधिकार का प्रयोग करे। यह बात सेठ वीरेन्द्र कुमार महाविद्यालय गूढ़ा में आयोजित मतदाता जागरूकता कार्यक्रम में मंगलवार को डीएम डा. मन्नान अख्तर ने कहीं।
जिलाधिकारी ने कहा कि पहले हम लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने में पीछे रहते हैं। बाद में अगर अच्छा जनप्रतिनिधि नहीं चुना जाता है तो हम दोष देते हैं। 5 वर्ष में मतदान होता है तथा सामान्य तौर पर 5 वर्ष में 3 बार मतदान करना पड$ता है। 5 वर्ष में 3 बार भी मतदान करने बचते हैं। मताधिकार के महत्व को समझे तथा मतदाता बन कर मताधिकार अवश्य करें। जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत प्रसाद पटेल ने कहा कि जब तक हम लोगों में यह भावना नहीं आयेगी कि राष्ट्र हमारा है और हम राष्ट्र के है। तब तक हम लोग संवैधानिक मताधिकार के प्रति सजग नहीं होगें। तहसीलदार बलराम गुप्ता ने छात्र छात्राआें को बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा मतदाता सूची के विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। जिस की आयु 1 जनवरी 2१ को 18 वर्ष या इससे अधिक हो वह 2२ व 28 नवंबर तथा 5 व 13 दिसंबर को होने वाले विशेष कार्यक्रम में अपना आवेदन मतदान बूथ पर बी एल आे के पास जमा कर दे। जांच के बाद नाम जोड$ दिया जायेगा। महाविद्यालय के निदेशक डां नितिन मित्तल ने आगंतुकों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में शशिकांत द्विवेदी, दीपक मित्तल, पालिका अध्यक्ष गिरीश गुप्ता, पुनीत मित्तल, अनिल याज्ञिक, संजू खत्री, डां सोमेन्द्र श्रीवास्तव, दीपू भदौरिया, देवेंद्र सिंह आदि लोग उपस्थिति थे। कार्यक्रम का संचालन डां अवनीश दीक्षित ने किया।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126