विकास दुबे का आतंक : अब तक 40 लोग बयां कर चुके खौफ की कहानी

कुख्यात विकास दुबे के आतंक की कहानी अब तक 40 लोग बयां कर चुके हैं। एसआईटी के सामने पेश होने के साथ इन लोगों ने अपने बयान दर्ज कराए हैं। कुछ लोगों ने दस्तावेज भी कमेटी को उपलब्ध कराए हैं। 

बिकरू कांड की जांच एसआईटी कर रही है। कमेटी ने अपना दफ्तर बापू भवन लखनऊ में बना रखा है। विकास दुबे से पीड़ित लोग वहां पहुंचकर अपने बयान दर्ज करा रहे हैं। इस मामले में पुलिस द्वारा भी लोगों को चिन्हित करके लखनऊ ले जाया जा रहा है। वहां पर उनके बयान दर्ज कराए जा रहे हैं। अब तक इस मामले में 40 लोगों ने एसआईटी के सामने पेश होकर बयान दर्ज कराए हैं। इसमें से कुछ ऐसे लोग भी हैं जो खुद ही एसआईटी के सामने पेश होकर विकास दुबे की कहानी सुना चुके हैं। वहीं छह लोग ऐसे हैं जिन्होंने विकास दुबे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी मगर उसके बाद मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई। उसके दस्तावेजी साक्ष्य भी एसआईटी को उपलब्ध कराए जा चुके हैं। 

30 अगस्त तक रिपोर्ट सौंपेगी एसआईटी 
बिकरू कांड में जांच कर रही एसआईटी को 30 अगस्त तक का समय दिया गया। 30 को कमेटी द्वारा अपनी रिपोर्ट शासन को दी जाएगी। जिसके बाद आगे की कार्रवाई तय होगी। 

7 अगस्त के बाद आ सकती है न्यायिक कमेटी 
सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित जांच कमेटी 7 अगस्त या उसके बाद दोबारा शहर आ सकती है। इस बार वह पुलिस और अपराधियों के बीच हुए मुठभेड़ के स्पॉट पर जाकर निरीक्षण करेगी। 

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126