विडंबनाः जिम्मेदार अफसरों को भी नही सोशल डिस्टेंस की परवाह

समाधान दिवस पर सोशल डिस्टेन्स की धज्जियां उडाते लोग

समाधान दिवस पर बिना मास्क दिखें सैकडो फरियादी

तहसील सभागार में भी नहीं दिखा सोशल डिस्टेंस

उरई(जालौन)। आम जनता को सोशल डिस्टेंस के बीच सर्तकता बरतने का पाठ पढ़ाने वाले सरकारी नुमाइंदे भी किस कदर अपनी जिम्मेदारियों के प्रति वेपरवाह हो सकते है इसकी बानगी मंगलवार को सदर तहसील परिसर में देखने को मिली। जब सैकडों की तादात में फरियादी बिना मास्क लगाये और सोसल डिस्टेंस की भी धज्जियां उडाते नजर आये। चोंकाने वाली बात यह रही कि इस बीच जिम्मेदार अफसरों ने भी फयिादियों से कुछ कहना तक मुनासिब न समझा।

गौरतलब हो कि कोविड-19 का कहर अभी थमा नही है। देश और प्रदेश की सरकारें लोगो से लगातार सर्तकता बरतने के दिशा निर्देश दे रही है। अनलाॅक के दौरान उक्त निर्देशों का पालन करना और भी जरूरी हो गया है। खास कर तब जबकि अभी तक कोरोना महामारी के संक्रमण से बचने के लिये वैक्सीन उपलब्ध नही हो सकी है। ऐसी स्थिति में सरकारें लोगो को आगाह कर इस बात पर सर्वाधिक जोर दे रही है कि लोग दो गज की दूरी के साथ साथ मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें। लेकिन इन दिनों अनलाक के बीच लोग उक्त निर्देशों को पूरी तरह से भूल चुके है या फिर उनकी परवाह न कर मखौल उडाने में लगे हुये है। हैरत की बात तो यह है कि आम लोगो की इन करतूतो के साथ साथ जिम्मेदार लोगो की भी उदासीनता कम नही है। समाधान दिवस पर तो आज आलाधिकारियों ने भी साशल डिस्टेंस और मास्क लगाने को लेकर लापरवाही बरत रहे फरियादियों की ओर गौर करना तक मुनासिब नही समझा। बताते चले कि विगत कई माह के लाॅकडाउन के बाद अनलाॅक में यह तीसरा समाधान दिवस तहसील सभागार में आयोजित कराया गया था। मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित इस समाधान दिवस में तहसील स्तरीय विभागीय अधिकारियों के अलावा अपनी अपनी समस्याओं के निराकरण को लेकर आये फरियादियों की संख्या काफी तादात मे रहीं लेकिन सोसल डिस्टेंस तो दूर लोगो के चेहरों पर मास्क तक नजर नही आयें। आलाधिकारी जरूर सभागार में मास्क लगाये बैठे दिखे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126