विधिक प्राधिकरण के न्यायिक अधिकारी ने डीएम बाँदा और डीआरएम झाँसी को पत्र लिखकर क्वोटरा रेलवे क्रासिंग के अंडर ब्रिज को शीघ्र से शीघ्र ठीक कराने को कहा है

पिछले 2 वर्षो में अंडर ब्रिज की उखड़ी सड़कें गहरे गड्ढे और निकली हुई सरिया से उलझ कर सैकड़ों लोग घायल हो चुके हैं
ई-रिक्शा वाले सवारी लेकर अंडर ब्रिज से आने से इनकार करते हैं जिससे बच्चों और बुजुर्गों को रेलवे लाइन क्रॉस करने में दुर्घटना की आशंका बनी रहती है
ट्रैक्टर ट्रालियों और ई-रिक्शा के पलट जाने के कारण लाखों रुपए के टाइल्स, ग्रेनाइट और घरेलू सामान टूटकर बर्बाद हो चुके हैं
अनिल शर्मा+संजय श्रीवास्तव+ डॉ. राकेश द्विवेदी
बाँदा: विधिक प्राधिकरण के न्यायिक अधिकारी अभिषेक व्यास ने डीएम बाँदा तथा झाँसी मंडल के रेलवे के डीआरएम को पत्र लिखकर बाँदा नगर के मोहल्ला क्वोटरा में रेलवे क्रासिंग के अंडर ब्रिज में बहुत गड्ढे हो जाने, आरसीसी के घटिया कार्य होने से यहां आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। पिछले 2 वर्षों में सैकड़ों लोग घायल हो चुके हैं। जबकि लाखों रुपए का सामान ट्रैक्टर, ठिलिया और ई-रिक्शा पलट जाने के कारण बरबाद हो चुका है।
मालूम हो कि पूर्व जज ए.एन द्विवेदी, जिला बार संघ के पूर्व अध्यक्ष आनंद सिन्हा, पूर्व बार संघ अध्यक्ष अशोक त्रिपाठी जीतू, वरिष्ठ अधिवक्ता एजाज अहमद, प्रद्युम्न दुबे लालू, अम्बिका प्रसाद एडवोकेट, सचिन अग्निहोत्री, रामहित निषाद एडवोकेट, राम कुमार धुरिया, राज नारायण, कुबेर दत्त द्विवेदी, पूर्व मंत्री बाबू लाल कुशवाहा, महेश दुबे एडवोकेट ने विधिक प्राधिकरण के न्यायिक अधिकारी अभिषेक व्यास को एक सामुहिक प्रार्थना पत्र देकर बताया था कि क्वोटरा रेलवे क्रासिंग का फाटक बंद कर दिया गया है। अंडर ब्रिज से पिछले कई वर्षों से जाना पड़ता है। अंडर ब्रिज की आरसीसी उखड़ गयी है। उसमें बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। उन गड्ढों में लोहे के सरिया जगह-जगह निकली हुई हैं। इसके कारण वाहन वालों को तो छोड़िए पैदल यात्री तक अक्सर उलझकर गिर जाते हैं और घायल हो जाते हैं। पिछले 2 वर्षों में सैकड़ों वाहन पलट चुके हैं। ई-रिक्शा वाले सवारी को लेकर अंडर ब्रिज से नहीं जाते हैं। जो छात्र-छात्राएं और बुजुर्ग लोग रेलवे क्रासिंग को पार करते हैं उनकी हमेशा रेलवे दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है। पिछले 2 वर्षों में दर्जनों लोगों के फ्रैक्चर हो चुके हैं। लाखों रुपए का सामान जिसमे टाइल्स व ग्रेनाइट अन्य पत्थर से भरी ट्राली और घरेलू सामान से भरे ई-रिक्शा कई बार अंडर ब्रिज में पलटने से बरबाद हो चुका है। इस मामले को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए विधिक प्राधिकरण न्यायिक अधिकारी अभिषेक व्यास ने जिला अधिकारी बाँदा और झाँसी मंडल रेलवे के डीआरएम को अलग-अलग पत्र लिखकर इस अंडर रेलवे ब्रिज को शीघ्र से शीघ्र ठीक करवाने को कहा है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126