संपूर्ण लाॅकडाउन की अफवाहों के चलते गुटखा भंडारण में जुटे व्यापारी

लॉकडाउन में तीन से चार गुने दामों में बिकता है गुटखा
उरई (जालौन)। संपूर्ण लाॅकडाउन की अफवाहों के बीच शहर के थोक गुटखा व्यापरियों ने गुटखा का भंडारण शुरू किया। शहर में लगभग सभी गुटखा दोगुने दामों पर बिक रहा है। शहर के लोगों ने गुटखा का भंडारण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग एसडीएम से की है।
सोशल मीडिया पर इन दिनों एक अफवाह बड़े जोर शोर से फैली है कि देश भर में एक बार फिर से संपूर्ण लाॅकडाउन लग सकता है। पूर्व में संपूर्ण लाॅकडाउन के बीच गुटके पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था। जिसके चलते जिनके पास गुटखा था उन्होंने दोगुने से चार गुने दामों में गुटके को बेचकर जमकर मुनाफा कमाया था। एक बार फिर संपूर्ण लाॅकडाउन की अफवाहों के बीच थोक गुटखा व्यापारियों ने गुटके का भंडारण शुरू कर दिया है। जिसके चलते शहर में गुटके के दाम एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। लगभग सभी ब्रांड के गुटखों के दाम दोगुने हो चुके हैं। जिससे गुटका प्रेमी परेशान हैं। हालांकि सरकार द्वारा तंबाकू मिश्रित गुटके पर रोक अभी भी लगा रखी है। साथ ही थूकने पर भी प्रतिबंध है। लेकिन जिन्हें गुटका खाने का शौक है वह जानते हैं कि गुटका उन्हें कैंसर जैसी गंभीर बीमारी दे सकता है। इसके बावजूद वह अपने शौक को छोड़ नहीं पा रहे हैं और ऊंचे दामों पर गुटखा लेकर उसका सेवन कर रहे हैं। शहर में लाॅकडाउन की अफवाहों के बीच ऊंचे दामों पर बिक रहे गुटखा को लेकर के गुलाब खान, रिपब्लिकन पार्टी के मनोज अहिरवार, शाकिर अली आदि ने स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से गुटके का भंडारण रोकने और सही कीमत पर गुटका बिकवाने की मांग की है।