संस्क्रति समवर्धन और समाज सेवा बना रोहित का लक्ष्य

भगवान गणेश के चित्रों से मिली देश विदेश में पहचान

प्रभु आइयें टीम बनाकर गरीब की कर रहे मदद

उरई(जालौन)। कहते है कि ईश्वर सभी के सामाजिक किरदार पहले ही तय कर देता है इस बात में कोई शक नही यहां “यंग भारत” एक ऐसे युवा की कहानी प्रस्तुत कर रहा है जिसे बचपन से ही भगवान गणेश के चित्रों को बनाने की ऐसी लगन लगी कि कुछ ही वर्षो में उसने हजारों लोगो के हस्तक्षरों पर अदभुत गणेश के रूपों को उकेरकर दूर दराज तक ख्याति अर्जित की उनका सफर यही पर नही थमा अब इसे उस युवा के मन का सौर्दय कहे या फिर ईश्वर की मर्जी की अब उस युवा ने अपनी कला के साथ साथ समाज सेवा करने का संकल्प साकार करने की ओर न सिर्फ कदम बढा यिा है बल्कि अपने साथ युवाओं की टीम खडी की है जो गरीब जरूरत मंद शरीरिक तौर पर असहाय और बीमारों की मदद के लिये पूरे जोश और सर्मपण भाव के साथ जीवन के मैदान में उतर पडे है। युवा रोहित की यह नई पहल एक बार फिर उनकी सामाजिक सराहना की वजह बन गयी है। बताते चले कि बुदेली संस्क्रति को अपनी कला में उतारने वाले रोहित का सफर स्कूली शिक्षा के दौरान वर्ष 2000 में शुरू हुआ जब उन्होने भगवान गणेश के चित्रों को लोगो के हस्ताक्षरों पर उकेर कर सब को हतप्रभ कर दिया उनका यह सिलसिला अब तक बरकरार है इस दौरान उन्होने 11 हजार 1100 चित्रों के लक्ष्य के करीब पहुचते हुये 8500 चित्र पूरे कर लिये है जिसें समाज के विभिन्न कार्य क्षेत्रों से जुडे लोग शामिल है बुदेलखंड की चितेरी लोक कला पर काम करने वाले रोहित विनायक की यह पहल उस वक्त जनपद और प्रदेश के गौरव का हिस्सा बनी जब वर्ष 2018 में उन्हें देश के संस्क्रति मंत्रालय ने 11 दिवसीय आयोजन में शामिल होने के लिये भारत सरकार की ओर से थाईलैण्ड भेजा । देश विदेश में बुदेली चितेरी को सम्मान दिलाने वाली प्रतिभा रोहित विनायक से जब यंग भारत ने बात की तो उन्होने बताया कि बुदेली चितेरी कला को व्यापक पटल तक पहुंचाना ही उनका लक्ष्य है बीते लाक डाउन के दौरान उन्होने महसूस किया कि गरीब और जरूरत मंदो के लिये भी काम किया जान चाहिये लिहाजा उन्होने प्रभु आइये टीम बनाकर इस पहल की शुरूआत की है ताकि लोगो की सेवा हो सके।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126