सत्याग्रह करने के बाद भी नहीं भरा गड्ढा, घरों में घुस रहा सीवर का पानी

आगरा: जिले के दयालबाग के जयराम बाग रास्ते पर बीते दिनों हुआ गड्ढा अब करीब 15 फुट गहरा हो गया है. बता दें कि सीवर लाइन के लीक होने की वजह से गड्ढे ने पूरी सड़क को क्षतिग्रस्त कर दिया है. इसकी वजह से लोगों को आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं क्षेत्रीय लोगों के घर के पास भरा हुआ सीवर का पानी भी घर के अंदर तक पहुंच रहा है. कुछ दिन पहले लोगों ने गड्ढे भरने के लिए सत्याग्रह भी किया था, लेकिन अभी तक गड्डा नहीं भरा गया.
योगी सरकार अधिकारियों को प्रदेश की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश दे रही है, लेकिन नौकरशाही इस कदर बेलगाम हो गई है कि उन्हें सरकार का भी डर नहीं रहा. प्रदेश को गड्ढा मुक्त करने की समय सीमा को लगातार बढ़ाए जाने के बावजूद भी तमाम ऐसी सड़कें हैं जो अभी भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही हैं.
दयालबाग के जयराम बाग की तरफ जा रही सड़क में गंगाजल की पाइप लाइन के लीक होने की वजह से कुछ समय पहले एक गहरा गड्डा हो गया था. इसके बाद इस सड़क को बंद कर दिया गया. इस गड्ढे को भरने के बाद सड़क चालू करने की बात भी कही जा रही थी, लेकिन अब यह गड्डा 2 फुट से करीब 15 फुट का हो गया है. यही नहीं सीवर लाइन भी चोक होने की वजह सीवर की गंदगी लोगों के घरों में घुस रही है.
करीब महीने भर पुराने हो चुके हैं गड्ढे
सड़क में गड्ढे हुए करीब महीना भर बीत गया, लेकिन अभी तक इस गड्ढे को भरा भी नहीं गया है. अब ये गड्डा इतना बड़ा हो गया है, जिससे क्षेत्रीय लोगों को आने-जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है.

सीवर की गंदगी से जीना हुआ दूभर
सड़क में गड्ढा होने की वजह से आसपास के क्षेत्र की सीवर लाइन भी ब्लॉक हो गई है, जिसकी वजह से सीवर की सारी गंदगी सड़क पर भर गई है. रास्ता न मिलने की वजह से सीवर का पानी लोगों के घरों में घुस रहा है.

पहले भी कर चुके हैं प्रदर्शन
क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि वह इस मामले में कई बार आवास विकास प्राधिकरण और नगर निगम पर प्रदर्शन कर चुके हैं, लेकिन अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगती.

सत्याग्रह के बाद मिला था आश्वासन
अधिकारियों के सुनवाई न करने के बाद क्षेत्रीय लोगों ने रामवीर चौधरी और सौरव चौधरी के नेतृत्व में सत्याग्रह की शुरुआत की थी. इसके बाद अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया था कि गड्ढे जल्द से जल्द भर दिए जाएंगे. करीब 2 हफ्ते बीतने के बाद भी गड्ढे अभी भी नहीं भरे गए हैं.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126