सब्जी और फलों के दामों ने छुड़ायें लोगो के पसीने

प्रतीकात्मक तस्वीर

नवरात्रि के बाद से ही आसमान पर पहुंचे दाम

उरई(जालौन)। कोरोना महामारी के कहर से जूझ रहे लोगो के सामने अब महंगाई सुरसा की तरह मुंह फैलाये खडी है जिस तरह से यकायक वस्तुओं के दाम बढ जाने से लोगो का बजट गडबडाने लगा है तो वही सर्वाधिक अहम जरूरत सब्जियों और फलों के अप्रत्याशित बढे दाम लोगों का पसीना छुटा रहे है।
सब्जी और फल आम और खास सभी की अहम जरूरत है इनके बिना एक दिन भी काटना किसी के लिये भी सहज नही है लेकिन देखा जा रहा है कि कुछ दिनों से आवश्यक वस्तुओं की कीमत में तेजी के साथ इजाफा देखने को मिल रहा है उसमें भी सबसे अहम बात यह है कि खादय पदार्थो के साथ साथ सब्जियों और फलों में महगाई चरम सीमा पर है नव रात्रि के दिनों के बाद इनके दाम तेजी से बढे है जो सब्जियां 15 से 20 रूपये प्रति किलो मिलती थी वह इन दिनों चलीस से पचास रूपयें किलो तक पुहंच गयी है जबकि कुछ सब्जियों के दाम 80 और 90 रूपये प्रति किलों के हिसाब से मंडियों में बेची जा रही है हरी सब्जियों की बात तो छोडो आलू के दाम भी पचास रूपयें किलो तक पहुंच चुके है जबकि टमाटर 80 के उपर है सब्जियों तथा फलों के दाम बढने से गरीब और मध्यम वर्गीय ग्रहणियों को घर के बजट का संतुलन बनाये रखना दुश्वार हो गया है। बहरहाल हालत यह है कि बाजार जाने से पहले लोगो को सौ बार सोचना पड रहा है ।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126