सर्राफ गोलीकांड: पीड़ित के पिता ने भाई सहित दो पर दर्ज कराया मुकदमा

लखनऊ: विकासनगर थाना क्षेत्र में दुकान बंद करके लौट रहे सर्राफ अभिषेक केसरवानी को बदमाशों ने गाड़ी रुकवाकर गोली मार दी थी. गोली उनके कंधे में लगी थी. अभिषेक अब खतरे से बाहर हैं. इस वारदात के बाद अभिषेक के पिता बद्री सर्राफ ने अपने भाई राजेश केसरवानी व एक अन्य आरोपी अष्टभुजा पाठक के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है. बता दें कि मोहनलाल में एक जमीन को लेकर उनका अपने भाई से विवाद चल रहा है. इसको लेकर उन्होंने धमकी भी दी थी. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.
मामला विकास नगर थाना क्षेत्र का है. अभिषेक केसरवानी की विकास नगर में बद्री सर्राफ ज्वेलर्स नाम की दुकान है. वह छन्नीलाल चौरहा महानगर के रहने वाले हैं. बुधवार देर रात वह दुकान बंद करके अपने घर जा रहे थे. रास्ते में उन्हें कुछ कार सवार बदमाशों ने रोक लिया. अभिषेक की कार का शीशा बंद था और कार में उनके साथ उनकी पत्नी भी मौजूद थीं. बदमाशों ने पहले लूट की मंशा से शीशा उतरवाने की कोशिश की.
बदमाशों ने ऐसे मारी गोली
नाकाम होने पर अज्ञात बदमाशों ने कार के शीशे से तमंचा सटाकर फायर झोंक दिया. गोली अभिषेक के कंधे में जा धंसी. गोली चलने की आवाज से क्षेत्र में दहशत फैल गई. बदमाश गोली मारने के बाद मौके से भाग गए. केसरवानी की पत्नी ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और अभिषेक को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया गया. अब उनकी हालत खतरे से बाहर है.
इनके खिलाफ दर्ज हुआ केस
पुलिस ने अभिषेक केसरवानी के पिता सुधीर केसरवानी की तहरीर पर अपने सगे भाई और एक अन्य अष्टभुजा नामक व्यक्ति सहित दो अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि मामले मे अष्टभुजा को आज सुबह ही गिरफ्तार कर लिया गया था. उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है. इसके लिए क्राइम ब्रांच के साथ ही पुलिस की पांच टीमें भी लगाई गई हैं.
एक आरोपी गिरफ्तार
डीसीपी नॉर्थ शालिनी ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. इसके बाद एक आरोपी अष्टभुजा पाठक को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं दूसरे आरोपी राजेश केसरवानी की तलाश जारी है.
एफआईआर में प्रॉपर्टी विवाद का जिक्र
अभिषेक केसरवानी के पिता सुधीर केसरवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि उनका उनके भाई से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था. बीते दिनों राजेश केसरवानी ने जान से मारने की धमकी दी थी. वहीं एक प्रॉपर्टी को लेकर बीते लंबे समय से अष्टभुजा पाठक भी प्रॉपर्टी उसे देने का दबाव बना रहा था. सुधीर केसरवानी का कहना है कि मुझे इन दोनों लोगों के ऊपर शक है. मेरा इकलौता बेटा है. ऐसे में या घटना को अंजाम देकर प्रॉपर्टी हड़पना चाहते हैं.
अभी तक नहीं हो पाया अभिषेक का ऑपरेशन
बुधवार रात 11:30 बजे के करीब कार में सवार चार लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया था, जिसके बाद अभिषेक केशरवानी को केजीएमयू में भर्ती कराया गया, लेकिन अभी तक अभिषेक केशरवानी का ऑपरेशन नहीं हो सका है. अभिषेक के कंधे में गोली लगने के बाद गोली सीने में फंसी हुई है.
पत्नी ने बताई आपबीती
अभिषेक केशरवानी की पत्नी नेहा केसरवानी ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि रात को 11 बजे वह अपने पति अभिषेक के साथ दुकान बंद करके घर जा रही थी, तभी एक्सेंट गाड़ी में सवार चार लोगों ने गाड़ी को ओवरटेक करते हुए सामने गाड़ी लगा दी. जिसके बाद मैंने अभिषेक को सतर्क करते हुए गाड़ी लॉक करने को कहा. इसके बाद गाड़ी से उतर कर दो लोग गाड़ी के पास आए और शीशे का ठोकने लगे जब शीशा नहीं खुला, तो एक आदमी ने गाड़ी के शीशे में सटाकर फायरिंग कर दी. गोली अभिषेक के दाहिने कंधे में लगी, जिसके बाद अभिषेक को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर भर्ती कराया गया है.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126