सहाव में लगे गंदगी के अंबार से ग्रामीणों का गांव में निकलना हुआ मुश्किल

विकास खंड मे शिकायत करने के बाबजूद गांव मे नही कराई गयी सफाई
ग्रामीणो ने जिलाधिकारी के दरबार ने लगाई गुहार

उरई (जालौन)। विकासखंड जालौन के ग्राम सहाव में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट होती जा रही है गांव की नालियां पूरी तरह से कूड़े करकट से पटी पड़ी हुयी है जिसके कारण सीसी सड़क पर नाली का गन्दा पानी बह रहा है।  जिसके चलते ग्रामवासी गंदे पानी से निकलने को मजबूर दिखाई दज रहे है।
जहां एक ओर सरकार की मंशा के अनुरूप पूरे देश मे फैली वैश्विक महामारी महामारी के बचाव के चलते बनाकर नगर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है और उसके लिए करोड़ों रुपए पानी की तरह बहाया जा रहा है। इसके बावजूद भी ग्राम पंचायत सहाव एक ऐसा गांव है जहां की आबादी लगभग दो हजार है।  बड़ा गांव होने के बाद भी गांव की साफ सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है। गांव की नालियां गंदगी से भरी पड़ी हुई है। जिसके कारण सड़कों पर नाली का गंदा पानी बह रहा है जिस पर लोग निकलने को मजबूर हैं। ग्रामीण प्रशांत कुमार, आलोक, कमलकांत, प्रेम सिंह, अवधेश आदि कहते हैं कि छोटे खां के दरवाजे से हरीनारायण चौधरी के दरवाजे तक का पूरा रास्ता बंद हो गया है। साधन सहकारी बैंक, प्राइमरी स्कूल के सामने, बड़ी माता मंदिर, शोभन सरकार आदि प्रमुख मार्गों पर कीचड़ के कारण लोगों का निकलना दूभर हो गया है। जिसके कारण मोहल्ले वासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि विकासखंड से रोस्टर के हिसाब से 2 दिन गांव में साफ सफाई अभियान चलाया गया लेकिन यह अभियान केवल मुख्य मार्गों पर ही चलाया गया। गांव की नालियों की साफ सफाई नहीं की गई। जिसके कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126