हादसों की आशंका से महफूज नही सड़क की पुलिया

हादसों की आंशका बढा रही पुलिया से पहले ढलान

रेलिंग के अभाव में कभी भी घट सकता है हादसा
मंगलवार और शनिवार को रहती श्रृद्वालुओं की खासी भीड़
उरई(जालौन)। आम लोगो की जिंदगी की सुरक्षा को लेकर जिम्मेदार अमले कितना सजग हे इस बात का अंदाजा तो इसी बात से लगाया जा सकता है कि विगत कई वर्षो से नगर के जिला परिषद समीप मंशापूर्ण हनुमान मंदिर के सामने बनी पुलिया लोगो में हादसों की आशंका बनाये है। पुलिया से पहले मंदिर की ओर ढलान पर रेलिंग न होने से कब कोई हादसा घट जाये कुछ कहा नही जा सकता है। कई बार लोगो ने प्रशासन से पुलिया बनबाये जाने की मांग की पर मामला जस का तस बना हुआ है।
बताते चले कि विगत कुद वर्षो के दौरान नगर के जिला परिषद समीप मंशापूर्ण हनुमान में भक्तजनों की तादात में खासा इजाफा हुआ है लाक डाउन के कारण भले ही मदिर में आने वाले भक्तों की संख्या प्रभावित हुयी किन्तु अब पुन अनलाक के चलतें यह तादात बढने लगी है। किन्तु चैकाने बाली बात यह है कि पुलिया से पहले उक्त मदिर का रास्ता नीचे की ओर जाता है और उसके एक तरफ उची सडक की ढलान बनी हुयी है ढलान के किनारे सडक पर कुछ खंबे लगाकर रौशनी का प्रबंध तो किया गया है पर रेलिंग नही लगायी गयी जिसके चलते वहां सडक से गुजरने वाले वाहन चालक यदि जरा सी भी लापरवाही कर बैठे तो इस किसी हादसे की आशंका से बचा नही जा सकता है। हालाकि पूर्व में कई बार दो पहिया वाहन चालक उक्त ढलान पर फिसलकर चुटहिल हो चुके है बाबजूद इसके अब तक किसी ने इस ओर गौर करना मुनासिब नही समझा।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126