5 साल पहले पैरोल पर आए युवक की हत्या कर दीवार में चुनवाया, परिजन को लगा कि लड़का जेल में है

सूरत: पांडेसरा में 5 साल पहले हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। गुरुवार को पुलिस ने आशापुरी सोसाइटी विभाग-3 के एक मकान की दीवार तोड़कर युवक का कंकाल बाहर निकाला। कंकाल को जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया। हत्या के आरोपी और 30 से ज्यादा मामलों में शामिल रहे राजू बिहारी को गिरफ्तार कर लिया गया।
मृतक के परिवार ने सोचा- बेटा, जेल में होगा
मृतक की पहचान खुशीनगर इलाके में रहने वाले किशन के रूप में हुई है। गुरुवार को जब पुलिस ने किशन का कंकाल बरामद किया तो परिवार वाले यहां आए और पता चला कि उन्होंने आज तक किशन को तलाशने की कोशिश ही नहीं की। परिवार के किसी सदस्य ने उसकी गुमशुदगी की शिकायत तक दर्ज नहीं करवाई थी। किशन भी कई गैर-कानूनी काम करता था। परिवारवालों ने सोचा कि वह जेल में होगा।
मुखबिरी के शक में की थी हत्या
पूछताछ में हत्या के आरोपी राजू बिहारी ने बताया कि पांच साल पहले उसने किशन की हत्या करके शव को घर में सीढ़ी के नीचे खाली जगह में चुनवा दिया था। किशन की मुखबिरी के चलते मैं पकड़ा गया था। जेल से आने के बाद उसने किशन को अपने घर शराब पीने बुलाया। किशन भी पैरोल पर जेल से आया था। यहीं अपने चार साथियों के साथ मिलकर उसका गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव सीढ़ियों के नीचे चुन दिया।
शव को दीवार में चुनने की पहली घटना
सिविल अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर डॉ. ओमकार चौधरी ने बताया कि मेरे 24 साल में इस प्रकार का यह पहला मामला है। शव को दीवार में चुनने की शहर में यह पहली घटना है। पुलिस ने बड़ी सतर्कता से इस केस को सुलझाया है। अपराधी ने बहुत चालाकी से काम लिया था, ताकि पुलिस को कोई सबूत न मिले। इसके बावजूद पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश किया। यह काबिले तारीफ है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126