कोरोना संक्रमण से बचने 28 राज्यों में तंबाकू व थूकने पर लगा प्रतिबंध

अमर भारती : कोविड-19 महामारी के चलते उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, असम और दिल्ली सहित देश के 28 राज्यों और केंद्र शासित राज्यों में धूम्रपान रहित तंबाकू उत्पादों के उपयोग और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर प्रतिबंध लगाया गया है। प्रतिबंध का उल्लंघन करने वालों को दंडित भी किया जा रहा है। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आधिकारिक सूत्रों ने दी।

मंत्रालय ने एक अप्रैल को सभी राज्यों को तंबाकू के उपयोग और थूकने पर रोक लगाने को कहा था। स्वास्थ्य मंत्रालय ने मुख्य सचिवों को भेजा पत्र सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को भेजे गए पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, “तंबाकू उत्पाद, पान मसाला और सुपारी चबाने से लार की मात्रा बढ़ जाती है, जिसके बाद लोग जहां-तहां थूकते हैं।

सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बढ़ जाता है।” वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने केंद्र सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। वॉलेंटरी हेल्थ एसोसिएशन ऑफ इंडिया की मुख्य कार्यकारी भावना मुखोपाध्याय ने तंबाकू का इस्तेमाल करने वालों से अपील की है

कि इस नाजुक वक्त में वे इसे छोड़ दें।” नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेस के मनोरोग विभाग की प्रोफेसर प्रतिमा मूर्ति ने कहा कि धूमपान से कोविड-19 होने का खतरा बढ़ता है। धूम्रपान से फेफड़े की कार्यक्षमता प्रभावित होती है और इम्युनिटी कम हो जाती है।