मेघालय में दूरदर्शन और रेडियो से प्रसारित होंगी कक्षाएं

अमर भारती : कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के कारण स्कूल-कॉलेज बंद हैं और ऐसे में बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। इसी कड़ी में मेघालय में विद्यार्थियों के लिए दूरदर्शन और रेडियो पर कक्षाएं प्रसारित करने का फैसला किया गया है। इससे करीब ढाई लाख विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। मेघालय के शिक्षा मंत्री लाहमेन रिम्बुई ने ट्वीट के जरिए बताया कि नॉर्थ ईस्ट में दूरदर्शन और रेडियो की पहुंच ज्यादा है

और इसी को देखते हुए ये फैसला किया गया है। उन्होंने लिखा है कि इसके लिए रेडियो और दूरदर्शन के साथ एमओयू साइन किया गया है। दरअसल अधिकारियों का कहना है कि मेघालय के ग्रामीण इलाके और दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियों को देखते हुए रेडियो और दूरदर्शन पर कक्षाएं प्रसारित करने का फैसला किया गया है। इससे उन्हें निश्चित तौर पर लाभ मिलेगा। राज्य के कई इलाके सुदूर जंगल वाले हैं, ऐसे में इन इलाकों में इंटरनेट की काफी ज्यादा समस्या होती है।

जो ऑनलाइन कक्षाएं दूसरे प्लेटफॉर्म से चल रही है, उसका लाभ ऐसे ग्रामीण और दूर दराज के इलाकों के बच्चे नहीं उठा पा रहे हैं। जब इससे संबंधित जानकारी राज्य सरकार तक पहुंची तो इसके विकल्प पर चर्चा की गई। इसके बाद तय किया गया कि बच्चों की पढ़ाई के लिए दूरदर्शन और रेडियो की मदद ली जा सकती है। योजना के तहत राज्य सरकार और दूरदर्शन व रेडियो के बीच एमओयू साइन किया गया है।

बहरहाल देशभर में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन जारी है। लॉकडाउन 3.0 का ये चरण 17 मई तक चलेगा। स्कूल, कॉलेज, उच्च शिक्षण संस्थाएं, विश्वविद्यालय बंद हैं, ऐसे में विद्यार्थी ऑनलाइन, डिजिटल प्लेटफॉर्म की मदद से पढ़ाई कर रहे हैं। अब इसी कड़ी में मेघालय में प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यार्थियों के लिए रेडियो और दूरदर्शन के जरिए कक्षाओं का प्रसारण करने का फैसला किया गया है।