संगम नगरी में कोरोना का कहर,नवजात बच्ची हुई संक्रमित

संगमनगरी प्रयागराज में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। गुरुवार को 10 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, इसमें 12 मई को जन्मी नवजात बच्ची भी संक्रमित पाई गई है। एसआरएन हॉस्पिटल में प्रतापगढ़ की रहने वाली एक महिला ने जन्म दिया है। 10 नए मामले आने के बाद कोरोना पॉज़िटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है। अब तक आठ मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं जबकि एक मरीज की मौत हो चुकी है। जिले में अब कोरोना के 22 एक्टिव केस हैं।

प्रतापगढ़ के राजगढ़ की कोरोना संक्रमित महिला ने 12 मई को देर शाम प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल में ऑपरेशन से एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची को चिल्ड्रन अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जबकि महिला को कोरोना वार्ड में शिफ्ट किया गया। कोविड के लिए बनाई गई अलग से ओटी नंबर पांच में स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग की एचओडी डॉ. अमृता चौरिसया के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम ने उसका ऑपरेशन किया। इस टीम में डॉ. शक्ति जैन, डॉ. यशी, डॉ. करिश्मा, डॉ. श्वेता, डॉ. समीक्षा व एनेस्थेटिक डॉ. राजीव गौतम, डॉ. नितिन और डॉ. मुक्तेश शामिल थे।

इनमें डॉ. यशी एवं डॉ. करिश्मा ने ओटी में ऑपरेट किया था। उनके सहयोग में डॉ. श्वेता व डॉ. समीक्षा को लगाया गया था। ओटी के अंदर एनेस्थेटिक के रूप में डॉ. मुक्तेश ऑपरेशन के दौरान डटे रहे। सभी पीपीई किट में थे. शाम 6.51 बजे महिला ने बच्ची को जन्म दिया। ऑपरेशन में शामिल तीन डॉक्टर भी 14 दिन के लिए क्वारंटाइन हुए हैं। जन्म के 48 घंटे बाद बच्ची का सैंपल जांच के लिए भेजा गया। गुरुवार देर रात रिपोर्ट में बच्ची पॉजिटिव पाई गई है। अब उसका इलाज किया जा रहा है।