ट्रेनें शुरू होने के बावजूद पैदल चलने को मजबूर हैं देशभर के प्रवासी मजदूर

अमर भारती : लॉकडाउन शुरू होने के बाद देशभर के विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने-अपने घरों की तरफ जा रहे हैं। मंत्रालय के दिशा-निर्देश के बाद कई राज्य उनके लिए विशेष ट्रेनें और बसें संचालित कर रहे हैं लेकिन इसके बावजूद वे पैदल और साइकिल से अपने घर जाने को मजबूर हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ के पास ट्रेन के लिए पंजीकरण कराने के लिए आवश्यक दस्तावेज नहीं हैं, कुछ और देर तक इंतजार नहीं कर सकते हैं। अन्य मामलों में कुछ राज्यों ने अभी प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रेन संचालित करने की अनुमति नहीं दी है। मजदूरों के पास मौजूद पैसे खत्म हो गए हैं। इसलिए वे जल्द से जल्द अपने घर जाना चाहते हैं।