ईडी को वधावन बंधुओं के खिलाफ मिला पेशी वारंट

अमर भारती : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यसबैंक घोटाले से जुड़े धनशोधन के एक मामले में डीएचएफएचल के प्रवर्तकों– धीरज वधावन और कपिल वधावन की हिरासत के लिए उनके विरूद्ध बुधवार को पेशी वारंट हासिल किये। सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किये जाने के बाद वधावन बंधु फिलहाल जेल में हैं। सीबीआई भी मामले कर जांच कर रही है।

वधावन के वकील ने बताया कि ईडी ने यह मांग करते हुए वारंट के लिए आवेदन दिया कि वधावन बंधु विशेष अदालत में पेश किये जाएं ताकि वह दोनों की हिरासत की मांग कर सके। अदालत ने इस आवेदन को मंजूर कर लिया है। धीरज वधावन और कपिल वधावन को यस बैंक घोटाले में पिछले महीने सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर भी इस मामले में आरोपी हैं। उन्हें ईडी ने गिरफ्तार किया और वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने आरोप लगाया है कि अप्रैल-जून, 2018 में यह घोटाला तब आकार लेने लगा था जब यस बैंक ने घोटाले से घिरे डीएचएफएल के शोर्ट टर्म डिबेंचर्स के 3700 करोड़ रूपये लगाये। ईडी के अनुसार उसके बदले में वधावन बंधुओं ने राणा कंपनी और उनके परिवार के सदस्यों को डीओआईटी अर्बन वेंचर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड को ऋण के रूप में 600 करोड़ रूपये रिश्वत दी। इस कंपनी पर राणा कपूर के परिवार का नियंत्रण है।