कोरोना से जारी जंग के बीच अच्छी खबर, भारत में मई मध्य तक कोरोना Tests Kits हो जाएंगी तैयार

देश इस वक्त कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी Tests Kits की कमी की वजह से हो रही है। टेस्ट किट्स की कमी होने की वजह से पर्याप्त संख्या में जांच नहीं हो पा रही है, वहीं हाल ही में चीन से बुलाई गई रैपिड टेस्ट किट्स के नतीजे भी गलत निकले। इसके बाद सरकार की मुश्किल बढ़ गई है।

हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने उम्मीद जताई है कि मई महीने के मध्य तक भारत में ही बनी Tests Kits तैयार कर ली जाएंगी। उन्होंने कहा कि Indigenous एंटीबॉडी बेस्ड रैपिड टेस्ट किट्स और रियल टाइम पॉलीमर्स चेन रिएक्शन (RT-PCR) स्वाब बेस्ड किट्स लेबोरेटरीज में डेवलप की गई हैं जो विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि ‘अगले कुछ हफ्ते बहुत Crucial होने जा रहे हैं और हम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अपने वैज्ञानिकों के रिसर्च और डेवलपमेंट वर्क के नतीजे देखेंगे।

मई के मध्य में हम खुद की अच्छी गुणवत्ता की एंटी बॉडी टेस्ट किट्स डेवलप कर लेंगे, इसके साथ ही RT-PCR Kits भी वायरस को पकड़ने के लिए तैयार हो जाएंगी। यह सभी मई में हो जाएगा। इसके लिए हमारे वैज्ञानिकों को धन्यवाद।’ इस प्रोजेक्ट्स में इंस्टीट्यूट्स और कंपनियां आपस में Collaborating कर रही हैं इसमें राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी, तिरुवनंतपुरम, श्री रामचंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च, पोरुर, चेन्नई, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ केरल और Dhiti Life Sciences Pvt. Ltd. शामिल है।