बुद्ध के संदेश पर चल रहा भारत, पूरी दुनिया की कर रहा मदद, पढ़िए संबोधन की बड़ी बातें

अमर भारती : PM Modi Speech Today: बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर वैश्विक वेसाक महोत्सव कार्यक्रम के कार्यक्रम में पीएम मोदी का संबोधन हुआ। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण बुद्ध पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन वर्चुअली किया गया। इसमें कोरोना पीड़ितों और कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले योद्धाओं के प्रति सम्मान व्यक्त किया गया। पीएम ने अपने संबोधन के शुरू में कहा, आप सभी को और विश्वभर में फैले भगवान बुद्ध के अनुयायियों को बुद्ध पूर्णिमा की, वेसाक उत्सव की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। आपने इस समारोह को कोरोना वैश्विक महामारी से मुकाबला कर रहे पूरी दुनिया के हेल्थ वर्कर्स और दूसरे सेवा-कर्मियों के लिए प्रार्थना सप्ताह के रूप में मनाने का संकल्प लिया है। करुणा से भरी आपकी इस पहल के लिए मैं आपकी सराहना करता हूं। भगवान बुद्ध के बताए 4 सत्य यानि दया, करुणा, सुख-दुख के प्रति समभाव और जो जैसा है उसको उसी रूप में स्वीकारना, ये सत्य निरंतर भारत भूमि की प्रेरणा बने हुए हैं।

पीएम ने कहा, आज आप भी देख रहे हैं कि भारत निस्वार्थ भाव से,बिना किसी भेद के,अपने यहां भी और पूरे विश्व में, कहीं भी संकट में घिरे व्यक्ति के साथ पूरी मज़बूती से खड़ा है। भारत आज प्रत्येक भारतवासी का जीवन बचाने के लिए हर संभव प्रयास तो कर ही रहा है, अपने वैश्विक दायित्वों का भी उतनी ही गंभीरता से पालन कर रहा है।बुद्ध भारत के बोध और भारत के आत्मबोध, दोनों का प्रतीक हैं। इसी आत्मबोध के साथ, भारत निरंतर पूरी मानवता के लिए, पूरे विश्व के हित में काम कर रहा है और करता रहेगा।