जानिए कैसे हवा में घुला जहर, खड़े-खड़े गिरने लगे लोग, तड़पने लगे पशु

कोरोना वायरस से जंग भी जारी ही थी कि गुरुवार सुबह आंध्रप्रदेश के विशाखापत्तनम पर एक भीषण संकट आ गया। यहां के आरआर वेंकटपुरम गांव में एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव हो गया। लॉकडाउन के कारण कंपनी बंद थी और आज से ही इसे खोलने की तैयारी की जा रही थी। रात 3 बजे सरीन गैस का रिसाव होने से हड़कंप मच गया। आसपास के तीन गांव चपेट में आ गए। कई घरों में लोग सोते ही रहे गए। इन्सानों से ज्यादा पशु मरे हैं। गाय, बैल के अलावा आवारा कुत्ते तड़पते नजर आए।

गैस लीक की सूचना मिलते ही फैली अफरा-तफरी:

एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री से सटा ही आरआर वेंकटपुरम गांव है। वहीं गोपालपत्तनम गांव भी इसके बहुत करीब है। इन गावों में जैसे ही गैस लीक की सूचना पहुंची, अफरा-तरफी मच गई। कुछ लोग तो नींद में थे और उठ नहीं पाए। जो उठने की हिम्मत दिखा सके और सुरक्षित स्थानों पर जाने की कोशिश करने लगे, रास्ते में ही बेहोश हो गए। इसी तरह सड़कों पर कई बाइक सवार भी बेहोश पड़े मिले।

बच्चों और बुजुर्गों पर ज्यादा असर: जहरीली गैस का बच्चों और बुजुर्गं पर ज्यादा असर हुआ। लोग छोटे बच्चों को लेकर बदहवास स्थिति में अस्पतालों की ओर भागते नजर आए। शुरू में तीन लोगों के मौत की खबर आई, जिनमें एक बच्चा शामिल था, लेकिन जल्द ही आंकड़ा बड़ गया।

जांच के आदेश, कंपनी के खिलाफ एफआईआर: जल्द ही राज्य सरकार हरकत में आ गई। गैस लीक के जांच के आदेश देने के साथ ही कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई।