Lockdown 3.0: 19 रेड जोन के साथ यूपी पहले स्थान पर, जानिए और भी राज्यों का हाल

अमर भारती : निर्माण गतिविधियों को सीमित तौर पर सिर्फ उन्हीं शहरी और ग्रामीण इलाकों में अनुमति होगी, जहां श्रमिक स्थानीय स्तर पर उपलब्ध हों। ग्रामीण इलाकों में सभी औद्योगिक और निर्माण गतिविधियां, मनरेगा कामकाज, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां, ईंट-भट्ठे, हर तरह की दुकानें खुल सकेंगी।

जुताई, बुआई, मंडियों में अनाजों की खरीद-बिक्री, सिंचाई सभी तरह की खेती की गतिविधियां, पशुपालन, मछली पालन हो सकेंगी। वहीं, आयुष समेत सभी स्वास्थ्य सेवाएं, बैंकिंग सेवाएं भी खुली रहेंगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गृहमंत्री अमित शाह, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण,

रेलमंत्री पीयूष गोयल और सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ बैठक के बाद सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया। रेड जोन में शहरी क्षेत्रों में फैक्टरियों के लिए सीमित अनुमति…विशेष आर्थिक क्षेत्रों, निर्यातोन्मुख इकाइयों, औद्योगिक परिसंपत्तियों और औद्योगिक टाउनशिप

समेत शहरी क्षेत्रों में सीमित अनुमति होगी। दवा, चिकित्सा उपकरण, आईटी से जुड़े उपकरण के उत्पादन, जूट उद्योग समेत जरूरी वस्तुओं के उत्पादन वाली इकाइयों खुलेंगी। वहीं, शिफ्टों में अंतराल रखते हुए सामाजिक दूरी का पालन अनिवार्य होगा।