लॉकडाउन में स्कूलों के बंद रहने से बच्चों के लिए खतरा बढ़ा : यूएन

अमर भारती : संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने व्यापक पैमाने पर शिक्षण संस्थानों के बंद होने से बच्चों की शिक्षा और भलाई के लिए अनूठा खतरा पैदा होने की चेतावनी दी है। यूएन से जुड़े संगठनों ने स्कूलों को दोबारा सुरक्षित तरीके से खोलने के लिए गाइडलाइंस जारी की हैं। बता दें कि ज्यादातर देशों में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ने के बाद स्कूलों को बंद कर दिया गया था।

यूनेस्को, यूनिसेफ, विश्व बैंक और विश्व खाद्य कार्यक्रम की तरफ से तैयार की गई गाइडलाइंस में बच्चों के हित को ध्यान में रखकर स्कूलों को दोबारा खोलने की सलाह दी गई है। यह सलाह शिक्षा, सार्वजनिक स्वास्थ्य और सामाजिक-आर्थिक कारकों से जुड़े भाव व खतरों के आकलन के आधार पर दी गई है।

गाइडलाइंस में कहा गया है कि अभी तक स्कूलों के बंद रहने से संक्रमण स्थानांतरण दर पर बहुत ज्यादा प्रभाव होने के पर्याप्त पुख्ता प्रमाण नहीं मिले हैं। लेकिन स्कूलों के बंद रहने का बच्चों की सुरक्षा और सीखने पर प्रतिकूल प्रभाव पहले से ज्ञात है।

इससे हालिया दशकों में बच्चों की शिक्षा को बढ़ाने के लिए किए गए प्रयास प्रभावित हो सकते हैं और ज्यादा बुरे हालत में इसका बिल्कुल विपरीत असर भी हो सकता है यानी बच्चों को स्कूल नहीं भेजने का दौर फिर से लौट सकता है।