Madhya Pradesh by elections : प्रशांत किशोर संभालेंगे कांग्रेस का प्रचार अभियान

अमर भारती : मध्य प्रदेश में मात्र 15 महीने में ही सत्ता से हाथ धोने के कारण कांग्रेस बेहद आहत है। भाजपा और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से इसका बदला लेने के लिए कांग्रेस 24 विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनाव में कड़ी टक्कर देने की तैयारी कर रही है। उपचुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस ने अपने प्रचार अभियान की रणनीति बनाने का काम प्रशांत किशोर को दिया है।

बिहार में नीतीश कुमार को जीत दिलाने में प्रशांत किशोर की अहम भूमिका रही है। पिछले विधानसभा (2018) चुनाव में भी प्रशांत ही कांग्रेस को सत्ता तक पहुंचाने वाले मुख्य रणनीतिकार थे। कांग्रेस के प्रचार अभियान की कमान संभालने के लिए पार्टी ने तीन कंपनियों के प्रस्ताव पर विचार किया था।

हालांकि, इसमें प्रशांत किशर के नाम पर मुहर लगी है। भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस का वॉर रूम भोपाल में न होकर कांग्र्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ ग्वालियर में होगा। कांग्रेस सिंधिया समर्थक नेताओं के खिलाफ बेहद मजबूत प्रत्याशी उतारने की रणनीति भी बना रही है। गौरतलब है कि कांग्र्रेस से बगावत कर कई विधायक भाजपा में शामिल हो गए थे, जिससे उसकी सरकार गिर गई थी। इसके बाद भाजपा ने शिवराज के नेतृत्व में फिर सरकार बना ली थी।

पार्टी नेताओं की मानें तो शिवराज सरकार के मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के खिलाफ सुरखी से पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह “राहुल भैया” को उपचुनाव लड़ाने पर विचार किया जा रहा है। इससे पहले भी अजय सिंह अपना गृृहक्षेत्र छोड़ 1993 में पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा के खिलाफ भोजपुर विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं।