पुलिस की PCR वैन में मिला शराब, जाने कहा का है मामला

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ थाना अंतर्गत बेलगांव में पुलिस की डायल 112 गाड़ी में शराब मिलने के बाद मामला थमने का नाम नही ले रहा है। मामले में गंभीरता से जांच की मांग की जा रही है। शराब की दुकान खोलने का विरोध करने पहुंचे भाजपाइयों ने इसकी सूचना पुलिस के आला अधिकारियों को दी है। शिकायत घटनास्थल पर डोंगरगढ़ के थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे। काफी हंगामे के बाद मामला शांत हुआ। बीजेपी ने मामले की गंभीरता से जांच कर जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने की मांग की है।

लॉकडाउन फेस-3 में शासन के आदेश के बाद शराब की दुकानें खोल दी गई हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के खतरे के बीच शराब की दुकानें खोलने का विरोध बीजेपी कर रही है। इसके तहत ही डोंगरगढ़ ब्लॉक के ग्राम बेलगांव बीजेपी कार्यकर्ता पहुंचे थे। बीजेपी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि शराब की दुकान के पास पहुंचे कार्यकर्ताओ की नजर अचानक शराब दुकान के पास खड़ी डायल 112 पर गई। उन्होंने एक कोटवार को उसके शराब रखते देखा। कोटवार ने बताया कि उसने डायल 112 में तैनात जवान के कहने से उसमें शराब रखी है।

बीजेपी के जिला अध्यक्ष व पूर्व सांसद मधुसूदन यादव ने कहा कि मामले की जानकारी जिला एसपी को दे दी गई है। गंभीरता से जांच कर कार्रवाई करने की मांग की गई है। पुलिस की गाड़ी में शराब मिलने का मामला गंभीर है। इस तरह के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं, लेकिन कोई गंभीर कार्रवाई नहीं की गई। बेलगांव के कोटवार तुलाराम का आरोप है कि उसने पुलिस जवानों के कहने पर ही सरकारी गाड़ी में शराब रखी. डोंगरगढ़ थाना प्रभारी अलेक्सजेंडर किरो ने बताया कि मामले में शिकायत के बाद जांच की जा रही है। जांच में जो भी जिम्मेदार मिलेगा, उसपर कार्रवाई की जाएगी।