पुलिस अधिकारी और पार्षद ने लावारिश शव को कंधा देकर अंत्‍येष्टि की

अमर भारती : Chhattisgarh News लॉकडाउन के दौरान मानवता की एक मिसाल बचेली में रविवार को नजर आया। जब एक महिला की मौत के बाद उसका अंतिम संस्‍कार करने पुलिस और जनप्रतिनिधि सामने आए। थाना प्रभारी मनीष नागर और वार्ड पार्षद अप्‍पू कुंजाम के साथ युवाओं ने कंधा देकर श्‍मशान पहुंचाया ही नहीं बल्कि मुखाग्नि भी दी। दरअसल स्‍थानीय लेबरहार्ट स्‍कूल परिसर में बीती रात एक भिक्षुक महिला की मौत हो गई।

काफी दिनों से वह बीमार और असहाय होकर स्‍कूल के पास ही झोपड़ी में रहती थी। लॉकडाउन के बाद वह स्‍कूल परिसर में रहने लगी थी। जिसे वार्ड पार्षद सहित आसपास के लोग भोजन कराते थे। रविवार की सुबह उसे मृत देखा गया है। जानकारी के बाद टीआई और वार्ड पार्षद ने उसका अंतिम संस्‍कार करने का निर्णय लिया। इसके बाद कुछ युवा और वार्डवासी भी सामने आए। महिला का नाम बीना बघेल डिमरापाल निवासी बताया गया। वार्ड पार्षद के मुताबिक बीना करीब 6-7 साल पहले बचेली आई और यहां के गंगू बघेल के साथ रहने लगी थी।

दोनों छोटा-मोटा काम या मांग कर खाते थे। लेकिन करीब तीन माह पहले गंगू की मौत भी किसी बीमारी के चलते हो गई। इसके बाद बीना पागल-सी हो गई और स्‍कूल के पास झोपड़ी में रहती थी। पिछले कुछ दिनों से असहाय होकर स्‍कूल परिसर में रहने लगी थी। जहां लोग उसके लिए भोजन- पानी की व्‍यवस्‍था कर देते थे। इधर पुलिस और एक जनप्रतिनिधि के इस मानवीय चेहरा और चरित्र की सभी प्रशंसा कर रहे हैं। टीआई ने कहा है कि लॉकडाउन खुलने के बाद बीना का अस्थि विसर्जन दंतेवाड़ा के डंकनी-शंकनी संगम अथवा स्‍थानीय नदी में किया जाएगा और उसके नाम गरीबों को भोजन कराएंगे।