पर्यटन उद्योग को लग सकती है 10 लाख करोड़ की चपत

अमर भारती : कोविड-19 संकट के कारण जारी लॉकडाउन से देश के पर्यटन उद्योग को 10 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। वैश्विक महामारी के कारण ट्रैवेल, होटल, रेस्तरां बंद हैं। पर्यटन उद्योग की शीर्ष संस्था फेडरेशन ऑफ एसोसिएशन इन इंडिया टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी (एफएआईटीएच) ने अपने अनुमान को संशोधित कर दोगुना कर दिया है।

इससे पहले मार्च में सरकार को सौंपी रिपोर्ट में उसने कहा था कि उद्योग को 5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। मांग में कमी से देश के आठ प्रमुख शहरों में अप्रैल में मकानों के दाम 2-9%घट गए हैं। मैजिकब्रिक्स डॉट कॉम के मुताबिक, टियर-1 शहरों में 15 मार्च से 15 अप्रैल के बीच मकान की कीमतों में औसतन 4% की गिरावट आई है। हैदराबाद में दाम 9%, बंगलूरू में 5% और दिल्ली-एनसीआर में 3% घटे हैं।