Uttar Pradesh: केमिस्ट को हर दिन बताना होगा, सर्दी-खांसी, बुखार की कितनी दवाएं बेची

अमर भारती : कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने प्रदेश के सभी केमिस्ट यानी दवा विक्रेताओं से कहा है कि वे अपने यहां सर्दी-जुकाम और बुखार की दवाओं की बिक्री का रिकॉर्ड रखे और हर दिन सरकार को बताए कि कितने लोग ये दवाएं खरीदने आए। सरकार का मानना है कि इससे अंदाजा लगेगा

कि कहां-कहां कोरोना वायरस की जांच की जरूरत है। आदेश के मुताबिक, प्रदेशभर के केमिस्ट को हर दिन शाम 5 बजे तक यह रिकॉर्ड स्थानीय प्रशासन तक पहुंचना होगी। इससे पहले देश के पांच राज्य (तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार और ओडिशा) भी इसी तरह के आदेश जारी कर चुके हैं। दरअसल, सरकार को आशंका है कि कोरोना वायरस के लक्षण नजर आने पर लोग अस्पताल जाने से डर रहे हैं और खुद ही लक्षणों का इलाज करने की कोशिश करेंगे।

इससे पहले गुजरात में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन को लेकर मेडिकल स्टोर पर मार-मारी हो गई थी। जैसे ही खबर आई थी कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन से कोरोना वायरस का इलाज हो सकता है, तो लोग बगैर डॉक्टर की सलाह के खुद ही यह दवा लेने मेडिकल पहुंचने लगे थे। बाद में सरकार ने बगैर डॉक्टर की पर्ची के इसकी ब्रिक्री पर रोक लगा दी थी।